National Tree Of India | Do You Know |

Let’s read interesting national tree of india

भारत का राष्ट्रीय वृक्ष – “बरगद”

national tree of india
“बरगद” का पेड़ भारत का राष्ट्रीय वृक्ष है।
देश का “राष्ट्रीय वृक्ष” गौरव और सम्मान के पात्र है, जो देश की संस्कृति और विचारों को प्रकाशित करता है, जिसे देश की पहचान से जोड़ा जाता है।

देश में “बरगद” के पेड़ को “वटवृक्ष” और “अक्षयवट” नाम से भी जाना जाता है।

अंग्रेजी में “बरगद” के पेड़ को “Banyan Tree” कहा जाता है।

“अक्षयवट” विशालकाय वृक्ष है। इसकी लंबी आयु के कारण, “अक्षयवट” वृक्ष को अमर माना जाता है।

जिसकी की जड़े काफी मजबूत, गहरी और शाखाएं लम्बी होती है।

भारत के इतिहास और लोक कथाओं का एक अविभाज्‍य अंग है।

बरगद के पेड़ को ग्रामीण जीवन का केंद्र बिंदु माना जाता है। गांव की पंचायत इसी पेड़ की छाया में बैठक करती है। 

national tree of india
national tree of india

हिंदू धर्म में “वटवृक्ष” को पवित्र माना जाता है।                                   

“बरगद” “के पेड़ का हिंदू धर्म में विशेष महत्व दिया गया है।       

“बरगद” की पूजा भी की जाती है।

भारत में सबसे बड़ा “बरगद” का पेड़ कोलकाता में पाया जाता है।

सनातन धर्म में “वट-सावत्री” नाम का एक त्योहार “बरगद” के पेड़ को समर्पित है।

आयुर्वेदिक दृष्टि से भी “बरगद” का पेड़ काफी लाभदायक है।

“वटवृक्ष” पेड़ के फल, जड़, छाल, पत्ती आदि के उपयोग से कई तरह के रोगों का दूर किया जा सकता है।

पर्यावरण में कार्बन डाइऑक्साइड कम करने और ऑक्सीजन छोड़ने में “अक्षयवट की भूमिका महत्वपूर्ण है।

इस पेड़ को “कल्पवृक्ष” भी कहा जाता है जिसका अर्थ “इच्छाएँ पूरी करने वाला वृक्ष” होता है।

भारत सहित पाकिस्तान और बांग्लादेश में बरगद ”का पेड़ पाये जाते है।

सबसे बड़ा बरगद ”का पेड़ कोलकाता में स्थित है।

“गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड” सूचि में शामिल इस पेड़ को “द ग्रेट बनियन तड़ी” के नाम से जाना जाता है। यह बरगद “भारतीय वनस्पति सर्वेक्षण” का प्रतीक चिन्ह भी है।

Thanks for reading about national tree of india.

Also Read….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *